parents of girl are to be punished first. in some cases it has become trend to purchase a boy for the blind daughter and pay them a handsome amount as a dowry or whatever it is. this is not an emotional story. taking and giving dowry, both are punishable.


----- Original Message ----- From: "avinash shahi" <shahi88avin...@gmail.com> To: "accessindia" <accessindia@accessindia.org.in>; "jnuvision" <jnuvis...@yahoogroups.com>
Sent: Tuesday, October 18, 2016 4:59 PM
Subject: [AI] Read on: gwalior Madhya Pradesh: Married with blind girl for dowry 2 lakhs and 5 pound gold then badly beat her and left on road


gwalior Madhya Pradesh:  Married with blind girl for dowry 2 lakhs and
5 pound gold  then badly beat her and left on road
http://www.bhaskar.com/news/c-6-957005-gw0197-NOR.html?seq=1

ग्वालियर। बोर्न-ब्लाइंड गर्ल से शादी करने के लिए उसके पिता से लाखों की
नगदी औऱ जेवरात दहेज में लिया। शादी के बाद ससुराल वालों ने 2 लाख नगद
एवं कार की डिमांड और रख दी। दुल्हन के पिता ने इसे अपनी क्षमता से बाहर
बताया तो ससुराल वाले दुल्हन को मारपीट कर मायके के पास सड़क पर छोड़ कर
भाग गए। दहेज क लालच में बोर्न-ब्लाइंड से की शादी और छोड़ गए....
- मुरैना के पोरसा कस्बे की सोनी बोर्न-ब्लाइंड थी।, माता-पिता ने उसे
लाड़-प्यार से पाला, उसे घर गृहस्थी के काम-सिखाए।
- देख नहीं सकने के बाद भी सोनी गृहस्थी के सभी काम थोड़ी-बहुत सहायता के
साथ कर सकती है।
- माता-पिता का अरमान था कि कोई भला परिवार सोनी को बहू के तौर पर अपना लेगा।
- सोनी के पिता से दहेज मिलने के लालच में कुरौदावाड़ी के कमल सिंह के
परिजन सोनी को अपनी बहू बनाने के लिए तैयार हो गए।
- सोनी के पिता से 2 लाख रुपए नगद और 5 तोला सोने के जेवरात दहेज लेकर
उन्होंने वादा किया कि सोनी को अच्छी तरह रखेंगे।
- शादी के बाद तीन-चार महीने तक सब कुछ ठीक रहा, लेकिन इसके बाद कमल सिंह
के परिवार ने सोनी के पिता से एक कार एवं 2 लाख रुपए नगद की मांग और रख
दी।
- इस पर समाज और रिश्तेदारों की पंचायत बुलाई गई, कमल सिंह का परिवार
अपनी मांग पर अड़ा रहा।
- आखिरकार कमल सिंह के परिजन सोनी को मारपीट कर पोरसा लाए और 20 अगस्त को
उसके मायके जाने वाली सड़क पर छोड़ गए।
- सोनी के पिता शिवशंकर परिहार ने पुलिस थाने में शिकायत का आवेदन भी
दिया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।
- सोनी के पिता 24 अगस्त को उसके लेकर मुरैना एसपी के पास आए और बेटी का
भविष्य खराब करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।
स्लाइड्स में है बोर्न ब्लाइंड सोनी और माता-पिता....

--
Avinash Shahi
Doctoral student at Centre for Law and Governance JNU

Register at the dedicated AccessIndia list for discussing accessibility of mobile phones / Tabs on:
http://mail.accessindia.org.in/mailman/listinfo/mobile.accessindia_accessindia.org.in


Search for old postings at:
http://www.mail-archive.com/accessindia@accessindia.org.in/

To unsubscribe send a message to
accessindia-requ...@accessindia.org.in
with the subject unsubscribe.

To change your subscription to digest mode or make any other changes, please visit the list home page at
http://accessindia.org.in/mailman/listinfo/accessindia_accessindia.org.in


Disclaimer:
1. Contents of the mails, factual, or otherwise, reflect the thinking of the person sending the mail and AI in no way relates itself to its veracity;

2. AI cannot be held liable for any commission/omission based on the mails sent through this mailing list..




Register at the dedicated AccessIndia list for discussing accessibility of 
mobile phones / Tabs on:
http://mail.accessindia.org.in/mailman/listinfo/mobile.accessindia_accessindia.org.in


Search for old postings at:
http://www.mail-archive.com/accessindia@accessindia.org.in/

To unsubscribe send a message to
accessindia-requ...@accessindia.org.in
with the subject unsubscribe.

To change your subscription to digest mode or make any other changes, please 
visit the list home page at
http://accessindia.org.in/mailman/listinfo/accessindia_accessindia.org.in


Disclaimer:
1. Contents of the mails, factual, or otherwise, reflect the thinking of the 
person sending the mail and AI in no way relates itself to its veracity;

2. AI cannot be held liable for any commission/omission based on the mails sent 
through this mailing list..

Reply via email to